NEET क्या है ? NEET का फुल फॉर्म क्या होता है? हिन्दी में जानकारी

2
372
NEET क्या होता है ? NEET का फुल फॉर्म क्या होता है
NEET क्या होता है ? NEET का फुल फॉर्म क्या होता है

नमस्कार दोस्तों आज की सेट कर में आपका स्वागत है दोस्तों आज किस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि NEET क्या होता है और NEET का फुल फॉर्म इनफॉरमेशन देंगे और NEET का फुल फॉर्म क्या होता है दोस्तों हर कोई अच्छी पढ़ाई करता है, उसके बाद वह सोचता है कि मैं एक अच्छा सपोस्ट या किसी अपने प्रोफेशनल पर काम करने की कोशिश करता है क्योंकि कोई डॉक्टर बनना चाहता है कोई इंजीनियर बनना चाहता है और कोई राइटर बनना चाहता है|

और कोई डिजाइनर बनना चाहता है, अब और कोई पेंटर बनना चाहता है इसके लिए कई सारे टर्म एंड कंडीशन होते हैं और जिन्हें पूरा करने के बाद ही और हमारा मनपसंद कैरियर और ऑप्शन मिल पाता है, और आप में से बहुत सारे लोग डॉक्टर बनना चाहते होंगे और और उसके लिए कौन सा प्रोसेस फॉलो करना होगा| यह चीज जाना चाहते होंगे इसीलिए हम आपको इस आर्टिकल के मदद से डॉक्टर बनने के लिए जो भी जानकारी होगी वह पूरी दी जाएगी और इस आर्टिकल में आप जानेंगे NEET एग्जाम कैसे आपको डॉक्टर बना सकता है|

NEET क्या है ?

तो सबसे पहले जान लेते हैं NEET फुल फॉर्म फुल फॉर्म क्या है national eligibility cum entrance test हमारे भारत में मेडिकल एजुकेशन से जुड़े कोर्सेज एमबीबीएस बीडीएस में एडमिशन लेने के लिए एक क्वालीफाई इंटरेस्ट एग्जाम है इस एग्जाम क्लियर कर लेने वाले स्टूडेंट को इन कोर्सेज को एडमिशन मिल जाता है नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ( national testing agency ) NTA को NEET एग्जाम को कंडक्ट करती है, और NEET एग्जाम 2 लेवल पर होता है UG और PG पर होता है NEET अच्छी ऊंची लेवल पर MBBS और BDS मेडिकल कोर्सेज के लिए इंटरेस्ट टेस्ट होता है जबकि NEET PG पीजी लेवल पर पीजी लेवल पर होता है M.S. और M.D कोर्स इसमें में इंटरेस्ट टेस्ट होता हैं एग्जाम हर साल हर देश के 400 यानी कि 470 कॉलेजेस में आयोजित किया जाता है|

NEET की जरूरत क्यों पड़ी?

अब यह जानना जरूरी है कि और NEET की जरूरत क्यों पड़ी उससे पहले मेडिकल कोर्सेज में एडमिशन के लिए इंटरेस्ट टेस्ट हुआ करता था इसका जवाब यह है कि NEET पहले भारत में मेडिकल कोर्स में एडमिशन लेने के लिए अलग-अलग नाइंथ एग्जाम हुआ, करते थे इनमें से AIPMT… CBSE ( central boad of secondary education ) और हर स्टेट में अलग-अलग इंटरेस्ट टेस्ट करवा कर और इस कारण से NEET इसलिएप्रेम किया गया क्योंकि और सारे एग्जाम कई सारे होते थे|

और नेट में एक ही एग्जाम में आपका मेडिकल यह डॉक्टर बनने का सपना जो है एक आसान तरीके से हो जाए और एक अच्छा डॉक्टर मिल जाए, जो कि मेडिकल इंडस्ट्री में अच्छा हो और उसका अच्छे से पैक करके उसे डॉक्टर का सर्टिफिकेट दिया जाता है, ऐसे लोगों को प्रेशर भी नहीं पड़ता था और अच्छे से अपने काम को कर दिया करते हैं जो भी पेपर होता है या एग्जाम होते हुए अच्छे से क्लियर कर सकते हैं NEET के द्वारा ज्यादा पैसा नहीं और कम कोर्स और कम एग्जाम और अच्छी क्वालिफिकेशन के साथ आपको एक डॉक्टर कर सकते टिकट दिया जाता है डॉक्टर एंड डॉक्टर बनना आसान हो जाता है|

और हर एप्लिक एग्जाम के साथ अलग फीस अलग एग्जाम हुआ करता था और अपीयर होने के लिए बहुत सारा खर्चा भी हुआ करता था| तो इस प्रकार फाइल चयन बोरिंग को हटाने और टाइम और एफर्ट को वेस्ट होने से रोकने के लिए NEET एग्जाम लाया गया और अलग-अलग एग्जाम को क्लियर करने के लिए और अलग-अलग सिलेबस को पूरा करने और जैसे स्ट्रेस को भी को एग्जाम से दूर कर दिया गया है क्योंकि मेडिकल कोर्सेज में कॉलेज में एडमिशन के लिए एक एग्जाम यह आपको NEET नेट को ही क्लियर करना पड़ता है तो इस तरीके से NEET ने AIPMT और स्टेट लेवल CET जैसे delhi – PMT, MHCET, R-PMT, WBJEE, EAMCET को रिप्लेस कर दिया है और यह काफी अच्छी बातें हैं|

read also

2021 में IPS officer कैसे बने – आसानी से जानिए

टच स्क्रीन क्या है? How do touch screens work?

What is Android Folder in Mobile ? पुरी जानकारी हिंदी में

NEET कुछ महत्वपूर्ण बातें

NEET ( UG ) -2019 5 may 2019 को हुआ और 5 जून 2019 को इसका रिजल्ट डिक्लेअर कर दिया गया|

यह एक सिंगल स्टेज एग्जाम है और ए ऑफलाइन होता है आने वाले सालों में एग्जाम ऑफलाइन होगा या ऑनलाइन यह अभी तय नहीं है यह भी पॉसिबिलिटीज है कि आगे होने वाले NEET साल में एक बार होने की वजह दो बार हो
इस एग्जाम की duration 3 Hours होती है इसमें ऑब्जेक्टिव टाइम questions होते हैं, और नेगेटिव मार्किंग भी होती है इस एग्जाम में बैठने के लिए 12th में physics, chemistry और biology/bio- technology सब्जेक्ट होने चाहिए और इस एग्जाम में फिजिक्स केमेस्ट्री और बायोलॉजी ( botany, zoology) subject के questions शामिल होते हैं|

NEET एग्जाम क्या चीज जरूरी है?

NEET में appear होने के लिए math होना जरूरी नहीं है। इसएग्जाम को देने के लिए कैंडिडेट की उम्र कम से कम 17 साल होनी चाहिए जबकि इस एग्जाम के लिए कोई upper age limit नहीं है, इस एग्जाम में appear होने के लिए unreserved category के कैंडिडेट को क्लास 12th में फिजिक्स केमेस्ट्री बायोलॉजी बायोलॉजी सब्जेक्ट में मिनिमम 50% मार्क्स लाना जरूरी होता है जबकि ओबीसी एसटी और एससी कैंडिडेट के लिए यह 40% है एग्जाम को क्लियर करने के लिए कैंडिडेट कितने में भी अटेंड ले सकता है कैंडिडेट का इंडियन होना जरूरी है|

NEET जरूरी बातें क्या है उनका इंफॉर्मेशन लेना या जानकारी लेना यह सभी जरूरी बातें भी करना होता है

सबसे पहले आप अपने करियर को लेकर बहुत जरूरी डिसीजन होता है इसलिए सोच समझकर कोई भी डिसीजन अच्छे से लीजिए क्या वाकई में क्या आप डॉक्टर के तौर पर देखना चाहते हैं, अगर जवाब यस है तो पूरी तरीके से हां पूरी तरीके से अपने आप को इस एग्जाम के लिए तैयार करने में जुट जाएं क्योंकि अपने सपने हकीकत बनाने के लिए वक्त नहीं लगता सिर्फ आप ही अपने मेहनत से कर सकते हैं|

12th स्टैंडर्ड अच्छे से क्लियर करना चाहिए ।

इसीलिए ट्वेल्थ स्टैंडर्ड अच्छे से क्लियर करना चाहिए और गौर करिएगा आपके स्कूल एजुकेशन पर्पस के लिए नहीं यह जानकारी अच्छे से पकड़ होगी, उतना ही आसान आपके लिए इस एग्जाम को पास करने के लिए करना होगा इसलिए फिजिक्स केमेस्ट्री और बायोलॉजी के सिविक्स को क्लियर करते हुए आपको आगे बढ़ना होगा| टाइम मैनेज करना सीखिए ताकि इस एग्जाम को पास कर ले और अपने सपनों को हकीकत में बदलने के कोशिश में आपको टाइम समय का महसूस ना हो अगर आप पहले भी NEET नेट दे चुके हैं|

NEET या फिर अपने कैरियर को लेकर क्या गलती नहीं करनी चाहिए।

पहले भी याद रखिए लास्ट एग्जाम में मिस्टेकहोने वाले मिस्टेक को जो भी होते हैं आपसे उन सभी को एनर्जेटिक है याद करें जो हमसे गलती हुए उन्हें दोहराने कोशिश ना करें और वह जो गलती किया आपने क्यों किया और उसे कैसे सही कर सकते हैं, उस चीजों पर अच्छे से ध्यान दीजिए और जो अगला एग्जाम देंगे उसमें आप गलती नहीं कर पाएंगे तो उन चीजों को दुआ नहीं कोशिश ना करें जो आपसे गलतियां हो जाती है जिससे अगला एग्जाम आप अच्छे से पास कर जाएंगे। NEET को पास करने के लिए अपने सपनों को अच्छे रखिए|

सही बुक का इस्तेमाल करे।

Authorization बुक की हेल्प और प्रैक्टिस करते रहिए और अपने हेल्थ का भी ख्याल रखिए ताकि आप अच्छे से परफॉर्म कर सके कम से कम आप 6 से 7 घंटे नींद जरूर लीजिए बिना अच्छे और पूरे नींद के किसी भी टॉपिक पर अच्छे से समझ नहीं सकते इसका नेगेटिव इंपैक्ट बॉडी और शरीर के माइंड को प्रभाव करती है|

तो खुद को अलग कमरे में बंद करके दिन रात पढ़ते रहने के लिए सही टाइम टेबल बनाइए, और अपना पूरा फोकस इस एग्जाम को पास करने में लगाइए इसके लिए आपको रोजाना का टाइम टेबल को फॉलो करना होगा ना स्ट्रेस ऑफिसर को भरे भरे इनको की हल्दी और बॉडी के साथ साथ जुड़ जाइए अगले NEET एग्जाम के लिए सही तरीके से और सही डरे डायरेक्शन के साथ जो आपका सही दिशा हो उस दिशा पर आप अपना काम करिए जिससे कि आप इस एग्जाम को पास कर जाएंगे|

निष्कर्ष

तो दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि आर्टिकल आपको अच्छी सी जानकारी दी होगी और आप एक अच्छे डॉक्टर बन जाएंगे या फिर NEET एग्जाम को पास कर जाएंगे उम्मीद करता हूं या अटकल आपको अच्छी लगी होगी और मैं आपके लिए कामना करता हूं कि आप जरूर अपने सपनों को पूरा कर सकें तू दोस्तों चलिए मिलते हैं अगले आर्टिकल में तब तक के लिए बाय बाय|

दोस्तों इसी तरीके का आर्टिकल के लिए हमारे इस ब्लॉग को सब्सक्राइब कर ले जिससे आने वाली हर आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिलते रहे सबसे पहले और आप अच्छे जानकारियां और अच्छे तरीके से आसानी से कोई चीज को समझ सके तो जरूर एक बार सब्सक्राइब करके हमें जरूर फॉलो करें।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here