वाईफाई क्या है वाईफाई कैसे काम करता है? WiFi by websor

4
353
WiFi kya hai or WiFi kaise kam karata hai
WiFi kya hai or WiFi kaise kam karata hai

वाईफाई क्या है WIFI कैसे काम करता है जैसा कि हम जानते हैं कि इंटरनेट का आविष्कार कई सालों पहले ही हो चुका है उस समय हर कोई इसका इस्तेमाल नहीं कर पाता था। इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए बहुत सारे केवल की जरूरत पढ़ती थी, केवल के सहायता से ही इंटरनेट का इस्तेमाल किया जा सकता था लेकिन जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी को बेहतर बनाने की रफ्तार बढ़ती गई, वैसे वैसे जाटव चीजों को साधारण बनाने की प्रक्रिया बढ़ती गई टेक्नोलॉजी में प्रतिदिन बदलाव की वजह से आखिर कंप्यूटर साइंटिस्ट है। वायर केबल के जगह एक ऐसा वायरलेस नेटवर्क बनाया जिसके वाईफाई करते हैं|

और इसका इस्तेमाल आज हम और आप सभी जगह पर करते हैं आज से कुछ 10 साल पहले इंटरनेट का इस्तेमाल करना सभी के लिए बहुत ही ज्यादा कठिन और मुमकिन नहीं था। इसके लिए लोगों को इंटरनेट कैफे जाना पड़ता था, लेकिन आज इंटरनेट सबके हाथों पहुंच चुके हैं इसके लिए किसी के जरूरत नहीं पड़ती वर्तमान समय में सारे लोग इंटरनेट का इस्तेमाल हो रहे हैं श्रे वाईफाई तकनीकी को जाता है चाहे इंटरनेट का मोबाइल लैपटॉप या कंप्यूटर जिस में भी करना चाहे उसके लिए अब हम वाईफाई का वाईफाई का उपयोग करते हैंदोस्तों इस आर्टिकल में हम पूरी जानकारी देंगे कि वाईफाई क्या होता है ( WiFi kya hai ? ) और कैसे काम करता है और इसके क्या क्या फायदे हैं विस्तार पूर्वक थे आर्टिकल को आप ध्यानपूर्वक पढ़िए आपको सारी चीज समझ में आ जाएगी।

वाईफाई क्या है वाईफाई कैसे काम करता है?

WiFi क्या होता है?

दोस्तों में सबसे पहले जानेंगे कि वाईफाई क्या होता है वाई फाई का पूरा नाम wireless Fidelity वाईफाई एक लोकप्रिय वायरलेस नेटवर्क टेक्नोलॉजी नेटवर्किंग टेक्नोलॉजी का नाम है। जो हाई स्पीड इंटरनेट नेटवर्क कनेक्शन देने के लिए रेडियो सिग्नल का उपयोग करता है इसका आविष्कार John O’ Sullivan और John Deane ने सन 1991 में किया था असल में यह एक वायरलेस नेटवर्किंग सुविधा है|

जिसे wlon यानी wireless local network को के नाम से जाना जाता है ऐसे टेक्नोलॉजी है, जिसके जरिए आज हम इंटरनेट एंड नेटवर्क कनेक्शन इस्तेमाल कर रहे हैं, इसकी सहायता से आप बड़ी आसानी से मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर, प्रिंटर जैसे डिवाइस उसको इंटरनेट नेटवर्क से जुड़ सकते हैं, यह टेक्नोलॉजी लोकल एरिया नेटवर्क के अंतर्गत आती है, इसका मतलब है। इसका रेंज कमरिया ही तक की होती है इसके जरिए हम एक सीमित स्थान तक इंटरनेट से जुड़ सकते हैं इंटरनेट ही नहीं आजकल लोग इसका वायरलेस डाटा ट्रांसफर करते हैं।

जैसे कि file go कहते हैं कि वायरलेस fidelity असल में ऐसा कोई मतलब नहीं है असल में वाईफाई एलियंस कंपनी डिवाइस को बनाती है हाई-फाई यानी high fidelity से लिया गया है वाईफाई एक स्टैंडर्ड है, जिसका पालन का कंप्यूटर वायरलेस नेटवर्क से जोड़ा जाता है, अभी के समय में जितना भी स्मार्टफोन लैपटॉप प्रिंटर और कंप्यूटर इन सभी में एक वाईफाई चीप रहती है|

जिसके जरिए हम और आप रूटर से करें कनेक्ट करते हैं और इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं वायरलेस रूटर के जरिए वाईफाई से डिबाई स्कोर कनेक्ट होकर इंटरनेट एक्सेस कर सकते हैं लेकिन रूटर को भी इंटरनेट से जुड़े रहने के लिए डीएसएल और केवल मॉडल का इस्तेमाल करना पड़ता है, जो कि internet service provider है कि से जुड़ा होता है वरना इंटरनेट एक्सेस नहीं हो पाता है आजकल कई तरह के हॉटस्पॉट डिवाइस भी आते हैं। जैसे जियोफाई 4g जिसमें वाले सिग्नल के माध्यम से वाई फाई से इंटरनेट कनेक्ट हो जाए|

How does wifi work ? ( WiFi कैसे काम करता है? )

वाईफाई टेक्नोलॉजी में एक ऐसी डिवाइस लगी होती है, जो वायरलेस सिग्नल को ट्रांसलेट करती है जो कि आमतौर पर वाई फाई रूटर या हॉटस्पॉट होता है, इसमें वायरलेस रूटर को किसी इंटरनेट से सूचना को रेट कर तरंगों में बदल देता है। वाईफाई डिवाइस को वातावरण में मौजूद वाईफाई संकेतों से कनेक्ट होकर अपने आसपास एक छोटा सा वायरलेस सिग्नल एरियर बनाता है। जिसे वाईफाई जोन कहते हैं एक छोटा सा एरिया एक बार ले लोकल एरिया नेटवर्क यानी wlan रूप ले लेता है|

एक छोटे से एरिया में जितने भी डिवाइस इस होते हैं जैसे स्मार्टफोन लैपटॉप या प्रिंटर इन डिवाइस इसमें इन बिल्ड वायरलेस एडाप्टर होते हैं जिसकी जिनकी मदद से बड़ी आसानी से यह डिवाइस इस वाईफाई सिगनल को प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन ड्रेस टॉप कंप्यूटर में इन वर्ल्ड वाईफाई एडेप्टर नहीं होता है। इसीलिए हम उससे यूएसबी पोर्ट के माध्यम से डॉक्टर लगाकर वाईफाई का इस्तेमाल कर सकते हैं, अगर आप कभी भी एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन या कॉफी शॉप जाते हैं पक्का आप उस वक्त वाईफाई जोन में होते हैं|

कई ऐसे शहर भी हैं। जहां पर सरकार ने वाईफाई जॉन बना रखा है जहां लोग जाकर इंटरनेट फ्री में इस्तेमाल कर सकते हैं जब भी वायरलेस कम्युनिकेशन होता है तब हमेशा टू वे होता है कैसे होता है। तो हम आपको बताएंगे विस्तार से|


मान लीजिए एक इलेक्ट्रॉनिक वाईफाई से कनेक्ट होकर इंटरनेट का उपयोग data trasmit होता है, तो आपका लैपटॉप जो होता है वह डाटा को रेडियो वेव में बदल देता है। और इसका एंटीना करो के प्रयोग से ट्रांस करता है, वायरलेस रूटर सिग्नल रिसीव करता है डिगो और उसे रिकॉर्ड कर देता है फिर उठा इंफॉर्मेशन फिजिकल वायरस इथरनेट कनेक्शन के माध्यम से इंटरनेट में भेजता है। इस तरह से वाईफाई नेटवर्क में एक डिवाइस दूसरे डिवाइस में डाटा भेजा जा सकता है|

यही प्रक्रिया ठीक इसके विपरीत भी काम करती है जिसमें रूटर इंटरनेट से इंफॉर्मेशन रिसीव करता है और फिर इसे रेडियो सिग्नल में बदल देता है और लैपटॉप के बाय वायरलेस अपडेट को को भेज देता है वाईफाई से निकलने वाली तरंगें दीवार के आर पार हो जाती हैं|

जिससे एक बिल्डिंग में नहीं बल्कि अन्य सभी कमरों में भी वाईफाई उपयोग कर सकते हैं, हालांकि एक घर के लिए वायरलेस रूटर काफी होता है। वाईफाई नेटवर्क गति रूटर के पास अधिक और दूरी बढ़ने कम होती जाती है आजकल के स्मार्टफोन वाईफाई सेवा के साथ हॉटस्पॉट का ऑप्शन भी आता है यानी कि आप ना केवल दूसरे वाईफाई नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकते हैं|

बल्कि अपने फोन में इस्तेमाल कर सकते हैं। कई डिवाइस को इंटरनेट कनेक्शन प्रदान कर सकते हैं अचानक से मोबाइल का डाटा खत्म हो जाए वाईफाई का इस्तेमाल कर सकते हैं किसी भी दोस्त के मोबाइल में हॉटस्पॉट ऑन करके वाईफाई उपयोग किया जा सकता हैं।

Benefits ( wifi के क्या-क्या फायदे हैं ?)

  1. यह टेक्नोलॉजी काफी यूजर फ्रेंडली है आप बड़ी आसानी से कोई भी स्मार्टफोन टेबलेट या लैपटॉप वाईफाई के साथ कनेक्ट करके उपयोग कर सकते हैं लेकिन आपका डिवाइस वाईफाई के रेंज में हो।
  2. इसका इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है बस आपको वाईफाई को ऑन फोन करना अगर आप पासवर्ड है तो उसका पासवर्ड इंटर करके वाईफाई से कनेक्ट करें इंटरनेट का मजा ले सकते हैं।
  3. पहले हर जगह वाईफाई का मिलना बहुत ही मुश्किल होता था आज के समय में यह हर जगह पर यह होता है वाईफाई के मदद से चलते-फिरते कहीं से इंटरनेट का एक्सेस कर सकते हैं इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे बारिश ट्रेन कॉफी शॉप सुपरमार्केट बस इन जगह पर वाई-फाई नेटवर्क होना बहुत ही जरूरी है।
  4. एक ही वाईफाई डिवाइस के साथ आप बहुत सारे दूसरे मोबाइल डिवाइस को कनेक्ट कर सकते हैं जैसे कि एक रूटर के साथ 5 से 6 मोबाइल डिवाइस कनेक्ट कर सकते हैं यह कनेक्शन बहुत ही जल्दी हो जाता है।
  5. सेलुलर नेटवर्क वाईफाई की तुलना में वाईफाई की स्पीड काफी ज्यादा होती है 1 एमबीपीएस से लेकर 100 एमबीपीएस का लाभ उठा सकते हैं वाई फाई से इंटरनेट का उपयोग करने की गति बहुत ही तेज होती है जिसमें ऑडियो वीडियो टेक्स्ट को आसानी से भेज और रिसीव कर सकते हैं
  6. मोबाइल रूटर की एक सीमा होती है लेकिन ब्रॉडबैंड हर रोज 50 से लेकर ज्यादा डाटा मिलता है मतलब जो जितना भी चाहे इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  7. वाईफाई की सबसे खास बात यह है आप अपने वाई फाई रूटर को दुनिया के किसी भी देश में मैं कहीं भी चला सकते हैं मतलब क्या वाईफाई रूटर का इस्तेमाल कहीं भी कर सकते हैं|

दोस्तों हमने आपको बता दिया कि वाईफाई क्या है और यह कैसे काम करती हैं और इसके क्या क्या फायदे हैं उम्मीद करते हैं कि आर्टिकल आपको बहुत ही अच्छी लगी होगी और सारा जानकारी आप प्राप्त कर चुके होंगे यह जानकारी को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करेंगे। और हमें कमेंट करके जरूर बताएंगे आर्टिकल कैसा है, अगर किसी तरीके का सवाल आपके मन में है तो हमें जरूर कमेंट करके बताएं। वैसे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें इसी तरह के आर्टिकल के लिए हमारे इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करें जिससे कि जितने भी आर्टिकल आएंगे आपको नोटिफिकेशन मिल जाएंगे और आपको एक नए नए जानकारियां मिलते रहेंगे चलिए मिलते हैं अगले आर्टिकल में||

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here